इस नवरात्रि इन लज़ीज फलाहार का उठाएं लुत्फ, भूलकर भी न करें ये काम!

इस नवरात्रि इन लज़ीज फलाहार का उठाएं लुत्फ, भूलकर भी न करें ये काम!

पूरे देश में नवरात्रि की धूम है नवरात्र यानी 9 विशेष रात्रियां। इस समय शक्ति के 9 रूपों की अराधना का श्रेष्ठ काल माना जाता है। उत्तर, पूर्वी और पश्चिम भारत में खासतौर पर लोग व्रत, संयम, नियम, यज्ञ, भजन, पूजन, योग-साधना आदि करते हैं। आदिकाल से आराधना दुर्गा-उपासना के रूप में चली आ रही है
जो व्रत रखते हैं फलाहार लेते हैं शुद्धता का ख्याल रखते हुए नमक की जगह सेंधा नमक लिया जाता है

इन फलाहारी पकवानों का लुत्फ ज़रूर उठाइये!
1.कुट्टू का डोसा

कुट्टू का डोसा
2.आलू की कढ़ी

नवरात्रि आलू की कढ़ी
3.लो-फैट मखाना खीर

नवरात्रि लो-फैट मखाना खीर
4.खीरे की पकौड़ी

नवरात्रि .खीरे की पकौड़ी
5.बनाना-वॉलनट लस्सी

नवरात्रि बनाना-वॉलनट लस्सी
6. कबाब-ए-केला

नवरात्रि कबाब-ए-केला

 

नवरात्रि के व्रत में इन बातों का रखना चाहिए खास ख्याल

– नवरात्रि में नौ दिन का व्रत रखने वालों को दाढ़ी-मूंछ और बाल नहीं कटवाने चाहिए. इस दौरान बच्चों का मुंडन करवाना शुभ होता है.
– नौ दिनों तक नाखून नहीं काटने चाहिए.
– अगर आप नवरात्रि में कलश स्थापना कर रहे हैं, माता की चौकी का आयोजन कर रहे हैं या अखंड ज्योति‍ जला रहे हैं तो इन दिनों घर खाली छोड़कर नहीं जाएं.
– इस दौरान खाने में प्याज, लहसुन और नॉन वेज बिल्कुल न खाएं.
– नौ दिन का व्रत रखने वालों को काले कपड़े नहीं पहनने चाहिए.
– व्रत रखने वाले लोगों को बेल्ट, चप्पल-जूते, बैग जैसी चमड़े की चीजों का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए.
– व्रत रखने वालों को नौ दिन तक नींबू नहीं काटना चाहिए.
– व्रत में नौ दिनों तक खाने में अनाज और नमक का सेवन नहीं करना चाहिए. खाने में कुट्टू का आटा, समारी के चावल, सिंघाड़े का आटा, साबूदाना, सेंधा नमक, फल, आलू, मेवे, मूंगफली खा सकते हैं.
– विष्णु पुराण के अनुसार, नवरात्रि व्रत के समय दिन में सोने, तम्बाकू चबाने और शारीरिक संबंध बनाने से भी व्रत का फल नहीं मिलता है.